नेहरू की विरासत पर फ्रंटलाइन का अंक : एक विहंगम दृष्टि!

फ्रंटलाइन पत्रिका के 12 दिसंबर 2014 के नेहरू की विरासत पर केंद्रित अंक को पढ़ना एक दिलचस्प अनुभव रहा। इसमें

Read more

फिल्म ‘हैदर’ की समीक्षा !

आज सचमुच हिन्दी की एक एपिक राजनीतिक फिल्म देखी – हैदर। राजनीतिक यथार्थ और व्यक्तिगत त्रासदियों के अंतरसंबंधों की जटिलताओं

Read more