15 अगस्त 2001 से अनवर शमीम और मे ( अफ़ज़ल ख़ान) ने ‘ कसौटी जदीद’ नाम से उर्दू की एक त्रैमासिक साहित्य पत्रिका का प्रकाशन शुरु किया जो भारतीय उपमहदीप के अतिरिक्त अमरीका, यूरॉप के साथ साथ विश्व के 15 मुल्को मे साहित्य प्रेमीयो के बीच खायति और अपनी एक अलग पहचान रखती है. पत्रिका का अपनावेबसाइट www.kasautijadeed.com है. आप को बताते चले के कसौटी जदीद बिहार का प्रथम उर्दू साहित्य पत्रिका है जो इंटरनेट एडिशन के साथ साथ प्रिंट एडिशन मे एक साथ उपलब्ध होता है.

 2005 मे हम ने कसौटी पब्लिकेशन की शुरुवात की ताकि साहित्यप्रेमीयो को उन की आध्यात्मिक और आत्मा संतुष्टि के लिये कम मूल्यो पर अच्छी किताबे उपलब्ध कराई जा सके और लेखको को उन की किताबे छपवाने उन्हे सुविधा दी जा सके. कसौटी पब्लिकेशन ने अब तक 25 से अधिक पुस्तके प्रकाशित कर चुका है जिस मे मुख्तः निम्न पुस्तके है.

सियाही सूखने से पहले – गुलरेज़ शहज़ाद ( कविता संग्रह )
मुट्ठी भर कथाये     – अफ़ज़ल ख़ान ( लघु कथा )
टकसाल – तफजिल अहमद
सिलसिले सवालो के- कहकशा तबस्सुम
दर्द-मौसम – अख़्तर सिद्दीक़ी
धूप की फसिल – असलम परवेज़
कथा कहानी – अफ़ज़ल ख़ान
बहुत कठिन है डगर पंगठ की – आनवार शमीम

अब कसौटी जदीद और कसौटी पब्लिकेशन ने एक और साहसिक कदम उठाया है और हिन्दी मे एक न्यूज़ वेबपोर्टलwww.khabarkikhabar.com की शुरुवात करने जेया रहा है जिस का मक़सद खबरो की खबर लेना है. इस के मध्यम से हम पूरी निस्पक्षता और ईमानदारी से खबरो का विश्लेषन पेश करे गे. हमारी कोशिश हो गी के हम भारत ही नही पूरे विशव के अच्छे लेखको के लेख आप के लिये उपलब्ध करा सके.

हमे आप के प्रतिक्रियाओ का इंतजार रहे गा.

संपर्क करे:—-

khabarkikhabarnews@gmail.com
kasautitv@gmail.com