Category: साहित्य व कला

हिंदी वैचारिकी की हत्या ” ये भी राज़ हे मोदी की ज़बर्दस्त कामयाबी का भी ”

by — सिकंदर हयात विवाह समाज विचार से जुड़े तीन लेख लिखे लिखे हे पाठको . इन्ही तीनो लेखो में...

Read More

चुनावी चक्कर से ऊब गए हैं? …तो चलिए बॉलीवुड, जहां मिलेंगे प्रेम के अनोखे चक्कर

by — लव कुमार सिंह क्या आप चुनावी चक्कर से ऊब गए हैं? यदि हां तो चलिए आपको बॉलीवुड लिए चलते...

Read More

ठाकरे’ नवाजुद्दीन की विस्फोटक प्रतिभा की विफलता का स्मारक क्यों है ?

by आशुतोष कुमार अगर आप बाल ठाकरे और उनकी राजनैतिक शैली के प्रति पहले से ही भक्तिभाव से भरे हुए...

Read More

दिलीप कुमार ने कादर खान के हुनर को पहचाना तो कादर खान ने अमिताभ को अपने हुनर से नवाजा

by — पुण्य प्रसून बाजपेयी जन्म काबुल में । पिता कंधार के । बचपन मुफलिसी मे बीता । संघर्ष...

Read More
Loading