सामाजिक

क्या मदरसा चलाना व्यवसाय बन गया है!!
सामाजिक 273 views 1
273 views 1

क्या मदरसा चलाना व्यवसाय बन गया है!!

by– इसरार पठान उत्तर प्रदेश के अधिकांश मदरसों की हालत बेहद खराब है।वही घिसा पिटा तौर तरीका,वही पुरानी रूढ़िबद्धता के धूल से ढके, सड़ा गला, बाबा आदम के जमाने की…

डरा हुआ है या डरा रहा है मुसलमान?
सामाजिक 1720 views 7
1720 views 7

डरा हुआ है या डरा रहा है मुसलमान?

संजय तिवारी तारीख २६ जून। ईद का दिन। मेरठ के ईदगाह में लोग ईद की नमाज अदा करने आये। हजारो की तादात। नये कपड़े। नयी टोपी। नया चप्पल। शरीर पर…

क्या प्रभाष जोशी होने के लिये रामनाथ गोयनका चाहिए?
पुण्य प्रसून बाजपेयी 240 views 2
240 views 2

क्या प्रभाष जोशी होने के लिये रामनाथ गोयनका चाहिए?

मालवा के पठार की काली मिट्टी और लुटियन्स की दिल्ली के राजपथ की लाल बजरी के बीच प्रभाष जोशी की पत्रकारिता । ये प्रभाष जोशी का सफर नहीं है ।…

संयोग न घटित होता तो क्या सलीम आतंकवादी हो जाता
सामाजिक 293 views 1
293 views 1

संयोग न घटित होता तो क्या सलीम आतंकवादी हो जाता

by — अभिषेक प्रकाश, पुलिस उपाधीक्षक अच्छा हुआ कि सलीम गाड़ी से उतरकर अपनी जान बचाने के लिए नहीं भागा, नहीं तो हमारा ही समाज उसे कहता कि आतंकवादी था,…

ऐसे ‘बहादुर’, ‘चरित्रवान’ और ‘देशभक्त’ थे गांधी के हत्यारे!
सामाजिक 808 views 5
808 views 5

ऐसे ‘बहादुर’, ‘चरित्रवान’ और ‘देशभक्त’ थे गांधी के हत्यारे!

by- अनिल जैन, वरिष्ठ पत्रकार नाथूराम एक टपोरी किस्म का व्यक्ति था जिसे कतिपय हिंदू उग्रवादियों ने गांधी की हत्या के लिए भाडे पर रखा हुआ था। जेल में उसकी…