Category: विचार

महान सुफी शाहबाज़ क़लन्दर के मज़ार पर हमला स्वयं मुसलामानों के भटके होनें का प्रमाण!

सहवन क्षेत्र में लाल शहबाज़ क़लंदर के मज़ार पर आत्मघाती हमले से पाकिस्तान को बिल्कुल ही हैरान नहीं...

Read More

फतवा और औरत!

by – सोनिका रहमान जब कभी भी मैं औरतों की तरक़्क़ी, आज़ादी और उनके हक़ के बारे में सोचती हूँ...

Read More

आत्मघाती हमला सभी परिस्थितियों में हराम है: कुरआन और हदीस की रौशनी में

किया आतंकवादी कार्यों को अंजाम देने के लिए आत्मघाती बम विस्फोट का उपयोग इस्लामी शरीअत में वैध है...

Read More

भारत में सऊदी स्टाइल इस्लाम की तलाश में विवादित पाठ्यक्रमों और फंड के रहस्यह का सच !

by — श्रीनवास जैन देश में सऊदी स्‍टाइल इस्‍लाम (सलाफी या वहाबी संप्रदाय) का प्रभाव बढ़ाने और...

Read More

ख़लीफ़ा अबू बकर अल बग़दादी का ख़लीफ़ा मुस्तअसिम के पथ पर गमन

मुहावरे भाषा के बढे हुए नाख़ून होते हैं। लम्बे समय तक एक तय शब्द समूह का प्रयोग कर समाज उसे विशिष्ट...

Read More

प्रधानमन्त्री जी ! क्या लोकतंत्र की संस्थाओं को सोच –समझकर कमजोर किया जा रहा है ?

by — आशुतोष तिवारी प्रधानमंत्री जी ! आपकी सरकार अपने जीवन के ढाई साल जी चुकी है | इन ढाई...

Read More
Loading