Category: राजनीति

राम पुनियानी का लेख: आपातकाल के दिनों से भी ज्यादा आज मुश्किल में है देश और लोकतंत्र!

राम पुनियानी आपातकाल की हिटलर से तुलना अतार्किक आज हम देख रहे हैं कि सत्ताधारी दल और उसके गुर्गे,...

Read More

माणिक सरकार से मोदी सरकार तक: भारत की राजनीति में गरीब आदमी का निर्णायक अंत

By अभिषेक श्रीवास्तव वाम राजनीति का आखिरी गढ़ त्रिपुरा दरक चुका है। वोटों की गिनती जारी है लेकिन...

Read More

गुजरात जनादेश ने निगाहें मिलाने के हालात पैदा तो कर ही दिये!

याद कीजिये 2015 में सड़क पर पाटीदार समाज था। 2017 में सड़क पर कपड़ा व्यापारी थे। इसी बरस सड़क पर...

Read More
Loading