Author: admin

भारतीय मुसलमानों में ‘रमजान’ की जगह ‘रमदान’ कहने का चलन क्यों बढ़ रहा है?

रमजान और इस जैसे दूसरे कई शब्द भारतीय उपमहाद्वीप में इस्लामिक संस्कृति की पहचान रहे हैं और इनका चलन से बाहर होना सिर्फ धार्मिक मामला नहीं है हर साल आने वाला वह महीना फिर आ चुका है. मुसलमानों ने रोजे रखने शुरू कर दिए हैं. और साथ ही इस दौरान एक शब्द के प्रयोग को लेकर बहस फिर छिड़ गई है : इस महीने को रमजान कहा जाए या रमदान? ऐतिहासिक रूप से भारतीय उपमहाद्वीप के ज्यादातर मुसलमान इस महीने को रमजान कहते आए हैं. फारसी भाषा से आया यह शब्द भारत में उर्दू से लेकर बांग्लाभाषी मुसलमानों तक...

Read More

इराक़ चुनाव: वहाबी क़िले में लाल पताका

अख़लाक़ अहमद उस्मानी इराक़ के नतीजे चौंकाने वाले हैं। आतंकवाद और लूट की मार झेल रहे दुनिया के सबसे मीठे तेल वाले इराक़ में चुनाव नतीजों को पूरी दुनिया आश्चर्य से देख रही है। शिया नेता मुक़्तदा अलसद्र का सुधारवादी गठबंधन सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरा है, हालांकि बहुमत से वह बहुत दूर है। अंग्रेज़ी में ‘अलायंस टुवर्ड्स रिफ़ॉर्म’ और अरबी में ‘सायरून’ नामक गठबंधन की सरकार बन जाने में कोई कसर नज़र तो नहीं आती लेकिन उन्हें कम से कम तीन पार्टियों के साथ की ज़रूरत पड़ेगी। अलसद्र के गठबंधन में इंटीग्रीटी पार्टी, इराक़ी कम्यूनिस्ट पार्टी, यूथ मूवमेंट...

Read More

कर्नाटक में गठबंधन सरकार के बाद की कथा, जो बाक़ी है

by क़मर वहीद नक़वी | मई 2018 के कर्नाटक की दो अशेष कथाएँ हैं. एक तो यह कि लोकतंत्र की रक्षा का मुकुट पहन कर बन रही कर्नाटक की अगली सरकार कैसी होगी और कितने दिन चलेगी? जवाब बिलकुल आसान है. नयी सरकार कम से कम 2019 के लोकसभा चुनाव तक तो चलेगी ही. उसके बाद का कुछ कह नहीं सकते! लोकसभा चुनाव के नतीजे कैसे आते हैं? और तब विपक्षी एकता की ‘ज़रूरत’ रहती है या नहीं, और रहती है तो कितनी, इस पर तय होगा कि सरकार रहेगी या गिरेगी! और कुमारस्वामी सरकार कैसी होगी? जैसी येदियुरप्पा...

Read More

वंशवाद बुरा है तो क्या व्यक्तिवाद अच्छा है ?

by — राजकिशोर कर्नाटक के विधान सभा चुनाव की सब से असुंदर बात यह है कि शुरू से आखिर तक यही लगता रहा कि चुनाव कर्नाटक के राज्य स्तर के नेता नहीं लड़ रहे हैं, बल्कि नरेंद्र मोदी और राहुल गांधी लड़ रहे हैं। निश्चय ही इस चुनाव का एक निर्णायक महत्व है। 2019 में क्या हो सकता है, इसकी एक झाँकी इस चुनाव से मिल सकती है। मोदी को उम्मीद है कि कर्नाटक चुनाव के बाद कांग्रेस पीपीपी (पंजाब, पुड्डुचेरी और परिवार) की पार्टी बन कर रह जाएगी। दूसरी ओर, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अगर लगा कर कहते...

Read More

अमिताभ बच्चन यानि एक भयंकर अवसरवादी आदमी!

Narendra Nath : बहुत रिस्क के साथ पोस्ट कर रहा हूं। जानता हूं इस देश में बहुमत के खिलाफ लिखना-बोलना बहुत जोखिम भरा होता है। फिर भी देश के एक नायक पर तल्ख टिप्ण्णी करने का साहस उठा रहा हूं। उस मुल्क में जहां सितारों को भगवना की तरह पूजा जाता है। और हां, बतौर अभिनेता मैं भी इनका बहुत ही बड़ा प्रशंसक हूं। नाम है अमिताभ बच्चन। अमिताभ बच्चन सुपरस्टॉर हैं। लारजर दैन लाइफ जिया है सिने दुनिया में। रील दुनिया में जो किरदार निभाया वह उन्हें अपने क्षेत्र में महान बनाती है। लेकिन रियल लाइफ में बतौर...

Read More