Author: admin

हरियाणा का मिनी पाकिस्तान: मेवात!

by — संजय तिवारी देश की राजधानी दिल्ली से मात्र 60 किलोमीटर की दूरी पर है मेवात । गुड़गांव से अलवर के रास्ते आगे बढ़ने पर सोहना के बाद मेवात का इलाका शुरू हो जाता है। मेवात एक मुस्लिम-बहुल इलाका है। यहां मेव मुसलमानों का दबदबा है। मेव पहले हिन्दू ही थे। मेव एक जाति है। अभी भी कुछ मेव हिन्दू हैं। मेवात का इलाका हरियाणा, राजस्थान और उत्तर प्रदेश में फैला है। 14 वीं शताब्दी में तुगलक वंश के समय मेवात के लोगों को जबरन मुस्लिम बनाया गया। फिर भी ये लोग वर्षों तक अपनी पहचान को बचाने...

Read More

जय श्री राम की जगह जय भीम का नारा बुलंद करती -काला !

by — अविनाश दास दो साल पहले आयी रजनीकांत की फ़िल्म कबाली में एक दृश्य है। जेल में क़ैद रजनीकांत के हाथ में एक किताब है। हार्पर कालिन्स से छपी वाईबी सत्यनारायण की ‘माइ फादर बलियाह’। तेलंगाना में दलित आंदोलन से जुड़ी एक मशहूर आत्मकथा। कुछ अन्य दृश्यों में अंबेडकर की तस्वीरें हैं। अब वे सारे दृश्य उस राजनीतिक हस्तक्षेप का पूर्वाभ्यास लगते हैं, जो काला में पूरी ताक़त से किया गया है। मेरे लिए काला हैरान होकर देखने वाली फ़िल्म रही, अनुभव रहा। फ़िल्म में उन तमाम पौराणिक मान्यताओं की धज्जियां उड़ायी गयी है, जिसकी वजह से ब्राह्मणवाद...

Read More

चुनावी साल से पहले संघ-भाजपा का नया प्रपंच- Urban Naxals

by अभिषेक श्रीवास्तव आज की गिरफ्तारियों के बहाने ”Urban Naxals” पर कुछ बातें… पिछले चार साल में एक ट्रेंड पर ध्‍यान दें। अगले एक साल की तस्‍वीर साफ़ होती दिखेगी। केंद्र की सत्‍ता में आने के बाद भाजपा सरकार ने पहले एक साल में छिटपुट मूर्खतापूर्ण बयानों और दुष्‍प्रचार की राजनीति जम कर की। याद करें, 2014-15 में गिरिजाघरों पर हमले की कई खबरें आईं जो ज्‍यादातर भ्रामक साबित हुईं। इस बीच हिंदू राष्‍ट्र, दलित, कश्‍मीर, राम मंदिर, 370 और मुसलमानों को लेकर अंडबंड बयानबाज़ी हुई। यह पानी नापने का चरण था। अंतरराष्‍ट्रीय प्रतिक्रियाओं से जब अंदाज़ा लगा कि...

Read More

ब्रिटेन में इस्लामीकरण, 500 चर्च बंद, 423 नई मस्जिदें बनीं

लंदन। ब्रिटेन का कितनी तेजी से इस्लामीकरण हो रहा है, इसका आप अंदाजा भी नहीं लगा सकते हैं। आप इसे इसी तथ्य से समझ सकते हैं कि लंदन में ही 500 से ज्यादा चर्च बंद हो गए हैं, लेकिन यहां 423 से ज्यादा मस्जिदें बन गई हैं। इतना ही नहीं, सैकड़ों वर्ष पुराने गिरजाघरों में मस्जिदें और सरकारी शरिया अदालतें खुल गई हैं। लंदन को लंदनिस्तान बताने वाले इस्लामी प्रचारक मौलाना सैयद रजा रिजवी का कहना है कि बहुत सारे इस्लामी देशों की राजधानियों की तुलना में लंदन अधिक इस्लामी हो गया है। लंदन में रहने वाले साहित्य का...

Read More

क्या पवित्र ग्रन्थ गीता सौदरानंद की नक़ल है ?

by –प्रेमकुमार मणि गीता हिन्दू अभिजन का केंद्रीय धर्मग्रन्थ तो है ही , इसका राष्ट्रीय मूल्य भी है . हमारे राष्ट्रीय स्वाधीनता आंदोलन में तिलक और गाँधी ने इसे वैचारिक औजार के रूप में इस्तेमाल किया और तमाम भारतीय जुबानों में इसकी जाने कितनी व्याख्याएं हुईं . तिलक का ‘गीता रहस्य ‘ और गाँधी का यरवदा मंदिर प्रांगण में दिए गए प्रवचनों की श्रृंखला ‘गीता बोध ‘ देश में खूब पढ़ी गयी है . स्वयं मुझे गीता के बहुत सारे श्लोक कंठाग्र हैं . उसके खूबसूरत -प्रांजल भाषा सौष्ठव पर मैं मुग्ध होता रहा हूँ . किसी को संस्कृत...

Read More