murda

ऑस्ट्रेलिया महाद्वीप के देश पापोानीोगनी लोग अपने मृत रिश्तेदारों के साथ जो भयानक व्यवहार करते हैं वे शायद ही आपने कभी देखा या सुना हो. आँगा जनजाति के लोग मरने वाले लोगों के शरीर से चर्बी निकाल कर उसे खाना उस से खाना पकाते है और बाद मे उस पे मसाला लगा कर मुख्य मुख्य स्थान पे लटका देते है. पापोानीोगनी के क्षेत्र मोरोब मे जब कोई व्यक्ति मर जाता है तो उसके घर वाले उसे भूनने की प्रक्रिया शुरू कर देते हैं. पहले अनुभवी लोग लाश के पैर, घुटनों और कहनयों तेज धार उपकरण से चीर लगाते है ताकि चर्बी टपक टपक कर बाहर निकल आए, यह चर्बी जीवन और स्वास्थ्य देने वाली शक्ति माना जाता है और लोग उसे शरीर पर मिलने इसके अलावा इसमें खाना पका भी खाते हैं.

चर्बी निकालने के बाद शव की आंख, कान और मुंह सहित शरीर के सभी सूराखों को सी दिया जाता है ताकि हवा शरीर में प्रवेश न हो. शव के पैरों के तलवे, हथेलियों त्वचा और जुबां काटकर अलग कर ली जाती है और निकटतम प्रिय रिश्तेदारो को भेंट किया जाता है. इसके बाद एक गड्ढे में आग जलाई जाती है और शरीर को ऊपर धुएं में लटका दिया जाता है. धुएं और गर्मी प्रक्रिया शव भुन जाता है. इसके बाद शव के ऊपर मिट्टी और गिरो का लेप किया जाता है और उसे बुलंदी पर बांसों के घोंसले बनाकर उसमें बिठा दिया जाता है. सारे क्षेत्र में शव घोंसलों में बैठी नजर आती हैं. उन विश्वास है कि यह शव उनकी निगरानी करते हैं और उन्हें भूत,प्रेत और बुरी बलाउं से सुरक्षित रखते हैं, मोरोब क्षेत्र में कई लाशे 200 साल से अपनी नसलो की निगरानी कर रहे है.