sachin-maria

फ़ज़ल इमाम मल्लिक

यह तुमने अच्छा नहीं किया मारिया शारापोवा
आख़िर यह ग़लती कैसे की तुमने
हम में से किसने सोचा होगा भला कि
तुम सचिन तेंदुलकर को नहीं जानती होगी
बरसों तक सचिन ने क्रिकेट के मैदान पर
अपनी चमक बिखेरी
और करोड़ों लोग उन्हें पूजते हैं मारिया शारापोवा
और तुम हो कि क्रिकेट के
उस भगवान को जानती तक नहीं
तुम्हारी इस एक ग़लती ने
कितने लोगों का दिल तोड़ा है
तुम्हें पता है मारिया शारापोवा!

ऐसा नहीं है कि
लोग तुम्हें यहां नहीं चाहते
तुम्हारे बैकहैंड और फोरहैंड स्ट्रोक्स के
काÞयल हैं हज़ारों लोग
तुम्हारी चपलता, तुम्हारी सुंदरता
तुम्हारे कपड़े, तुम्हारी अदा
तुम्हारी मुस्कुरहाट, तुम्हारी तमतमाहाट
पर नजाने कितने लोग इस देश में क़ुर्बान
हुए होंगे मारिया शारापोवा
कोर्ट पर तुम्हें खेलते देखना
बहुतों को एक अनुभव से भर देता है
और न जाने कितने ऐसे लोग हैं
जो तुम्हें जीत कर
कोर्ट से बाहर निकलते देख कर
तुम पर फूल बरसाते होंगे
और तुम्हारी हार पर
ग़मज़दा होते होंगे मारिया शारापोवा
फिर तुमने यह कैसे कह दिया कि
सचिन तेंदुलकर को तुम नहीं जानतीं
जब हम तुम्हें जानते हैं
तो तुम सचिन तेंदुलकर को
क्यों नहीं जानती हो मारिया शारापोवा

तुम्हारी इस एक ग़लती ने
तुम्हारे कितने प्रशंसकों को नाराज़ किया
तुम्हें पता भी है भला
यह तो बहुत कम लोग हैं
जिन्होंने फेसबुक या ट्विटर पर
अपना ग़ुबार निकाला है
मारिया शारापोवा

मुझे भी बहुत बुरा लगा है
मारिया शारापोवा
ठीक है कि रूस में
नहीं खेला जाता है क्रिकेट
वहां कोई नहीं समझता है क्रिकेट
लेकिन ‘भगवान’ से अनजान
कैसे रह सकती हो तुम
मुझे बुरा लगा है मारिया शारापोवा
लेकिन मैंने तुम्हारी फेसबुक वाल या
ट्विटर अकाउंट पर
नहीं किया किसी तरह का कमेंट

मारिया शारापोवा नहीं जानती हैं सचिन को
तो उबल पड़ता है देश
लेकिन जब वीरेंद्र सहवाग
पूछते हैं कौन हैं वीनू मंकड
तो ख़ामोश रहते हैं हम
ध्यानचंद, गोष्टोपाल, नूर मोहम्मद
सैयद रहीम, राजेश चौधरी
या ऐसे ही सैंकड़ों-हज़ारों नामों को
अपने देश में ही नहीं जानते हैं हम
लेकिन नहीं करते हैं शिकायत किसी से
नहीं उबलते हैं हम
नहीं घुसपैठ करते हैं उसकी फेसबुक वाल पर
नहीं खंगालते हैं उसका ट्विटर अकाउंट
अपने नायकों को आए दिन बिसराते हैं हम
फिर भी ख़ामोश रहता है पूरा देश
ऐसा क्यों करते हैं हम मारिया शारापोवा
क्या बता सकती हो तुम !