by — महेंद्र यादव

प्रधानमंत्री ने रामलीला मैदान में भाजपा की रैली में कहा-असम में कोई डिटेंशन सेंटर है ही नहीं. #डिटेंशन सेंटर होने की बात एकदम झूठ है झूठ।
लेकिनकेंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने 27 नवंबर, 2019 को राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान एक सवाल के जवाब में बताया कि असम के #छह #नजरबंदी शिविरों में 988 विदेशी नागरिकों को रखा गया है. राय ने बताया, “असम सरकार से मिली 22 नवंबर, 2019 तक की जानकारी के मुताबिक, राज्य के छह डिटेंशन सेंटरों में 988 विदेशी लोग रह रहे है. गैरकानूनी ढंग से देश में आने वाले और रहने वालों के पकड़े जाने पर नजरबंदी के दौरान बीमारी से मौत होने पर मुआवजा या हर्जाना देने का कोई प्रावधान नहीं है.
भारत सरकार
गृह मंत्रालय
राज्यं सभा
अतारांकित प्रश्ना संख्या 1010
दिनांक 27.11.2019/06 अग्रहायण,1941 (शक) को उत्तर के लिए