यूं प्यार के इजहार का कोई दिन नहीं होता है और प्यार करने वाले तो रोज ही प्यार करते हैं, इकरार और इजहार भी करते हैं. लेकिन, इसके लिए कोई खास दिन सुनिश्चित भी किया गया है, तो इसमें कोई बुराई नहीं है. जैसा कि हमारे देश में भी तमाम ऐसे त्यौहार मनाये जाते हैं, किसी खास दिन को लेकिन इसका मतलब ये तो नहीं है कि साल भर हम इन रिश्तों को नहीं मानते? ठीक वैसे ही अगर वैलेंटाइन डे को हम इस नजरिये से देखें तो इसे मनाने में कोई हर्ज़ नहीं है, मगर अधिकांश मामलों में ऐसा नहीं होता है!

आज कल की युवा पीढ़ी “वेलेंटाइन डे” को ‘एकदिनी जश्न’ के रूप में देखने लगी है, जिसमें कोई पार्टनर तलाशो, मौज-मस्ती और पार्टी, “वगैरह-वगैरह”… करो! और इसी सोच का परिणाम होता है कि कुछ लोगों की ज़िन्दगी में हमेशा के लिए अँधेरा छा जाता है.

दुर्भाग्यपूर्ण मामलों में ज्यादातर लड़कियां शिकार बन जाती हैं. ऐसे में कुछ सावधानियाँ बरतना आवश्यक है, ताकि ‘प्रेम’ का उत्साह बना रहे न कि वैलेंटाइन आपके जीवन में ‘कड़वाहट’ घोल जाए!

सावधान रहें ‘फ़रवरी’ वाले प्रेमी से
इस कड़ी में हम सबसे पहले उन प्रेमियों की बात करेंगे, जो अचानक से फरवरी के महीने में पैदा हो जाते हैं. साल भर ये क्या करते हैं, नहीं पता मगर फरवरी आते-आते इनकी एक्टिवनेस चरम पर होती है. येन, केन, प्रकारेण इन का एक ही उद्देश्य होता है कि कैसे भी एक लड़की सेट हो जाये. अब जिनकी मानसिकता ही “सेट” करने वाली हो उनके बारे में और क्या कहा जाये? इसलिए ऐसे मजनुओं से सतर्कता बेहद जरुरी है. ऐसे लोगों का एक ही मकसद होता है और वह होता है ‘लड़कियों को इस्तेमाल’ करना! तो ऐसे ‘लड़कों’ को कतई मौका न दें जो, सिर्फ ‘वैलेंटाइन डे’ वाला मौका ढूंढ रहे हों.

अनजान जगह और ‘एकांत से बचें’
अब जब आपने अपना वेलेंटाइन चुन ही लिया है तो जाहिर सी बात इसको सेलिब्रेट भी करेंगे. लेकिन क्या आपको पता है कि आपका पार्टनर आपको कहाँ ले जा रहा है? अगर नहीं, तो सबसे पहले अपने पार्टनर से इस बात की चर्चा करें कि हम कहाँ जाने वाले हैं और वो जगह आपके लिए अगर अनजान हो तो अपने पार्टनर को मनाएं और किसी ऐसी जगह जाने के लिये कहें, जिसके बारे में आप पहले से जानती हों और वहां आपको सुरक्षित महसूस हो! अगर आपका पार्टनर मान गया तो ठीक है नहीं तो फिर आपके साथ धोखा होने के चांसेस बढ़ जाते हैं.

अपने रिलेशन की ‘जानकारी दें घर में’
अगर आप पहले से ही रिलेशनशिप में हैं और ये बात घर वालों को बताये बगैर पार्टी की तैयारी कर रही हैं, तो ये काफी रिस्की है. आखिर, क्यों कुछ महीने की रिलेशनशिप में ही आपको लगने लगता है कि ये आदमी कुछ गलत नहीं करेगा? उधर लड़के को भी लगने लगता है कि थोड़े दिनों के साथ से ही उसे वो सारे अधिकार मिल गए हैं, जिससे वह कुछ भी कर सकता है. इसलिए अपने पार्टनर की जानकारी घर वालों को दें और संभव हो तो उसे घर वालों से मिलाएं भी. इससे क्या होता है कि लड़के के दिमाग में ये मैसेज जाता है कि ‘रिश्ते’ के बारे में सबको पता है, इसलिए कुछ भी अनावश्यक करने से पहले वो 10 बार सोचेगा जरूर!

‘भड़कीले कपड़े’ पहनने से बचें
अक्सर ऐसा होता है कि लड़कियां अत्यधिक मॉडर्न दिखने और अपने बॉयफ्रेंड को इम्प्रेस करने के चक्कर में ऐसे तड़कीले-भड़कीले कपड़े पहन लेती हैं, जिसमें वो खुद ही असहज या अनकंफ़र्टेबल महसूस करती हैं. फिर जाने-अनजाने आप अपने पार्टनर को ऐसा मैसेज दे देती हैं कि कपड़ों की तरह आपकी सोच भी इतनी ही मॉडर्न है और आपको बुरा नहीं लगेगा, अगर कोई आपके साथ लिमिट क्रास करे तो. अब इसका मतलब ये भी नहीं है कि आप “बहन जी” टाइप बनें, लेकिन सुन्दर और आकर्षक लगने के और भी तरीके हैं, जिसे आप ट्राय कर सकती हैं.

‘मर्यादा’ का रखें ख्याल
जब आप अपने पार्टनर के साथ पार्टी में हों, तो शुरू से ही अपने आपको संयमित और मर्यादित रखें. ऐसा ना हो कि पार्टी की खुमारी में आप भूल जाएँ कि आप अनजान लोगों के बीच में हैं और आपकी ये अदा देख आसानी से लोग आपके साथ कम्फर्टेबल होने की सोचने लगें. अक्सर ऐसा होता है कि लड़के ये मान लेते हैं कि इस लड़की को पटाना आसान है और इसकी कोशिश जब नाकाम होती है तो फिर किसी अनहोनी घटना होने के चांसेस बढ़ जाते हैं. कई बार तो ग्रुप में लड़के ‘गलत हरकत’ करने लगते हैं, अतः ‘सावधानी ही बचाव’ है.

पब्लिक प्लेसेस पर ‘इंटिमेट’ होने से बचें
चाहे कोई कितना भी करीबी हो, किन्तु पब्लिक प्लेस पर ‘इंटिमेट’ होने से बचें. आज कल सोशल मीडिया पर तमाम ऐसी ‘वीडियोज’ हैं, जिसमें पब्लिक प्लेसेस पर इंटिमेट होते जोड़ों के अंतरंग पल सर्कुलेट होते रहते हैं. कई बार खुद ‘बॉयफ्रेंड’ द्वारा धोखा देकर रिकॉर्डिंग कर ली जाती है तो कई बार कोई तीसरा छिपकर विडियो बना लेता है और फिर सोशल मीडिया के ज़माने में वह विडियो ‘वायरल’ होते देर नहीं लगती है और बहुत मुमकिन है कि ‘वायरल कंटेंट’ आपके परिवार या रिश्तेदारों के व्हाट्सएप्प पर पहुँच जाए. कई बार तो खुद वह विडियो घूम फिरकर आपके पास ही आ सकती है. अतः नए ज़माने के नए खतरों को अवश्य समझें…

‘सेफ्टी किट’ का इस्तेमाल
वैसे तो सेफ्टी किट हर उस लड़की के लिए जरुरी है जो घर से बाहर अकेली निकलती है, लेकिन वैलेंटाइन की रात को अपने साथ जरूर रखें. सेफ्टी किट में शामिल होना चाहिए लाल मिर्च पाउडर, आलू छिलने वाली मजबूत छिलनी, नेल कटर और जो भी आपको जरूरी लगे. जब आपको लगे कि सिचुएशन कंट्रोल से बाहर हो रही है तो आप इन चीजों के इस्तेमाल से अपनी सुरक्षा कर सकती हैं. वीमेन हेल्प नंबर के साथ ही अपनी किसी सहयोगी की नंबर भी आप डायलिंग पर रखें, जिससे मुश्किल समय में आप आसानी से कॉल कर सकें. कोई नंबर याद न आये तो फिर 100 नंबर पर कॉल करें.

अगर इन छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखा जाये तो वैलेंटाइन की आड़ में आने वाले खतरों से आसानी से बचा जा सकता है. और सिर्फ वैलेंटाइन ही क्यों समाज में बढ़ रहे आपराधिक कल्चर से बचने के लिए हमेशा यह सावधानियां अपनानी चाहिए.

Read more at http://editorial.mithilesh2020.com