90

from- washington post

पुराने समय के निरंकुश बादशाहोंकी रंगीन मिजाजी और अधिक बिविया के किस्से हम आज भी पढ़ते हैं लेकिन आज के इस आधुनिक युग में भी ऐसी राज्यों स्थापित हैं जहां राजा आज भी दाद ऐश देते नज़र आते हैं। इन्हीं देशों में से एक अफ्रीकी देश स्वाजीलैंड भी है। यहां हर साल एक नृत्य महोत्सव का आयोजन किया जाता है जिसमें देश भर से 40 हजार से अधिक कुंवारी लड़कियों हर साल भाग लेने करती हैं और स्वाज़ीलैंड का अय्याश राजा उन लड़कियों में से अपने लिए नई पत्नी का चयन करता है। यह महोत्सव पास ही है और देश के कोने कोने से कुंवारिया लड़कियों को मेले में शामिल होने के लिए उस स्थान पे पहुँचाया जा रहा है .

123इसी कर्म में कल इस मेले में भाग लेने के लिए 70 से ज्यादा कुंवारिया लड़कयाँ एक ट्रक में सवार होकर आ रही थीं कि उनका ट्रक विपरीत दिशा से आ रही कार से टकरा गया जिससे 38 लड़कियों को मार डाला, जबकि 20 से अधिक घायल हो गईं जिन्हें अस्पताल ले जाया गया है। स्वाज़ीलैंड गिनती दुनिया के सबसे गरीब देशों में होता है लेकिन यहां के राजा शौक बहुत निराले और शर्मनाक। हर साल देश की हसीन सबसे किशोर लड़कियों राजा ( मसवाती- थ्री ) सामने नग्न नृत्य करती हैं और यह उनमें से सब से खूबसूरत लड़कियों को चुनता है और अपने हरम में शामिल कर लेता है . इस की संख्या १-१०० लडकिया या उस से अधिक भी हो सकती है .

अब अय्याश शासक के सिर पर जुनून सवार हो गया है और उसने एक आदेश जारी किया है कि देश के सभी किशोर लड़कियों कुंवारी रहें ताकि वह जो भी चुनाव करे वह कुंवारी हो और इसके बदले देश भर के सभी कुंवारी लड़कियों को मासिक 11 पाउंड (लगभग 1800 रुपये) वजीफा भी दिया जाए गा.मलक भर में राजा के इस फैसले से जनता में आक्रोश फ़ैल गया है और लड़कियों के घर वालो में चिंता की लहर दौड़ गई है क्योंकि अब वह राजा की अय्याशी के कारण अपने बेटी की शादी भी नहीं कर सकते , अगर किसी को अपनी बेटी की शादी करनी है तो उन्हें राजा के ऑफिस से इजाजत लेनी हो गी.

इस राजा ने अपनी अय्याशी के इस परियोजना को देश में तेजी से फैलती हुई एड्स की बीमारी को रोकने का उपाय बताया है और कहा है कि लड़कियों को सेक्स क्रिया से सुरक्षित रहेंगी तो इस देश में एड्स रोग देश नहीं फैले गा, उस ने कहा के ये देश के हित में है . जबकि वास्तव में राजा का मूल योजना अपनी शैतानी इच्छाओं की पूर्ति को कुंवारी लड़कियों की उपलब्धता सुनिश्चित करना है .