isby — मुहम्मद जाहिद

अब तो सब लोगों को समझना होगा कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर किस किस तरह की साजिशें होती हैं और पर्दे के उस पार कैसे साजिशें करके पर्दे के इस पार एक धर्म पर आक्रमण करके बदनाम करने के लिए कैसे कैसे कुकर्म किये जाते हैं और जब आपको पता चले कि ऐसा करने वाले कौन लोग हैं तो निश्चित ही आप आश्चर्य चकित हो जाएंगे कि ऐसा करने वाले विश्व के शांति के ठेकेदार हैं ।

789अब यह लगभग निश्चित हो गया है कि खुद को इस्लाम का खलीफा ( नेता ) घोषित करने वाला आईएसआईएस और उसका मुखिया अबू बक्र अल बगदादी दरअसल खतरनाक इजराइली खूफिया एजेंसी मोसाद का पिट्ठू एजेन्ट “शिमोन एलियट” है जिसके माता-पिता एक यहूदी हैं ।एडवर्ड्स स्नोडेन और पश्चिमी देशों की मीडिया ने जो विश्वसनीय प्रमाण प्रस्तुत किये हैं उससे यह शिमोन एलियट उर्फ बगदादी और उसका बाप मोसाद दुनिया के सामने नंगा हो गया है, इजराइल और अमेरिका की मदद से मुस्लिम देशों में मुसलमानों की मारकाट करने के उद्देश्य से पैदा किये गये इस संगठन के पास मौजूद अत्याधुनिक टैंक राकेट लांचर और अत्याधुनिक तकनीक के हथियार यह प्रमाणित करते हैं कि इसके पीछे कौन से लोग हैं , इतने अत्याधुनिक हथियारों को उपलब्ध कराने वाले लोग कौन हैं । निश्चित ही इनके आकाओं की साजिश यह है कि बगदादी और आइएसआइएस के कुकर्म दिखा कर इस्लाम को बदनाम किया जाए । अमेरिका में ऐसे स्टूडियो सामने आए हैं जहाँ शूटिंग करके पूरी दुनिया के भाँड़ मीडिया में इस्लाम के खिलाफ दुष्प्रचार किया जा सके कि इस्लाम के नाम पर आईएसआईएस और बगदादी यह कुकर्म कर रहा है ।

isisदरअसल अमेरिकन प्रभाव में दुनियाभर की मीडिया का प्रयोग केवल ऐसे दुष्प्रचार करके इस्लाम को बदनाम करना रहा है , इसी दुष्प्रचार में इराक के पूर्व राष्ट्रपति सद्दाम हुसैन को लटका दिया गया जबकी सारी दुनिया के सामने उनपर लगे आरोप पर केमिकल हथियारों की जांच एजेंसी ने कहा कि इराक में ऐसा कुछ नहीं पाया गया । फिर भी लटका दिया गया इराक को बर्बाद कर दिया गया तो यह अमेरिका और इजराइल की साजिश और दुस्साहस का एक उदाहरण ही है ।मोसाद अपने एजेंट “शिमोन एलियट” के माध्यम से सीरिया इराक तबाह करने के बाद सऊदी अरब को निशाने पर लेगा जिसकी घोषणा शिमोन कर चुका है , और क्योंकि सऊदी अरब पर आक्रमण करने के कारण पूरे विश्व के देशों और मुसलमानों के क्रोध का सामना करना पड़ता तो बगदादी के नाम के ढोंगी गुड्डे को अमेरिका और मोसाद ने मिलकर पैदा किया है ।

दोगलापन देखिए कि सब सामने आ चुका है फिर भी दुनियाभर के देश हिजड़े बनकर अमेरिका के लिए ताली बजा रहे हैं ।

भारत और भारत के लोगों को ऐसी साजिशों का स्तर देख और समझ कर आपस में एकजुट रहना चाहिए , विशेष कर जुबेर जैसे मंदबुद्धि के लोगों को जो बगदादी से प्रेरित हैं और समझ लें कि बगदादी इस्लाम का खलीफा नहीं वरन मोसाद का एक एजेंट “शिमोन एलियट” है , यह अमेरिका यह मोसाद किसी के भी नहीं और अपने लाभ के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं , आईएसआईएस और बगदादी इस का प्रमाण है ।

आप खुद प्रमाण देखिए । शिमोन और जान मेक्केन के चित्र जिसकी सत्यता प्रमाणित हो चुकी है ।