tragedy-in-cricket
क्रिकेट के इतिहास में 7 खिलाड़ी गेंद लगने से मारे गए, जिस में एक भारतीय और 2 पाकिस्तानी खिलाड़ी भी शामिल हैं। जानकारी के अनुसार ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज फिलिप हीोज़ से पहले भी मैच के दौरान गेंद लगने से 6 खिलाड़ियों की मृत्यु हो चुकी हीं. रमन लाम्बा भारतीय बीट्स मैन थे, मेहराब हुसैन द्वारा खेले गए एक शॉट में गेंद सीधा उनके सिर पर लगी जिसकी वजह से आंतरिक चोट होने के कारण वह कोमा में चले गए थे और वीन्टी लीटर पर तीन दिनों तक रहने के बाद उनकी मौत हो गई थी उन्होंने भारत के लिए चार टेस्ट और 32 वनडे मैच खेले थे।

17 दिसंबर 2013 वर्ष दिन एक और क्रिकेटर के मैदान पर गेंद लगने के कारण तुरंत मौत हो गई थी। पाकिस्तान के 22 साल के युवा क्रिकेटर जुल्फिकार भट्टी की छाती पर गेंद लगने से मौत हो गई थी। पाकिस्तान के ही एक और क्रिकेटर अब्दुल अजीज की मौत गेंद लगने से हुई थी। अब्दुल अजीज इस समय 17 साल के थे जब वे छाती पर गेंद लगने के बादउन की मिर्त्यु हो गयी थी . लेकिन इस मामले में विचार करने वाली बात यह है कि अजीज की मौत ऑफ ब्रेक गेंद लगने से हुई थी।

डीरियन रैंडोल साउथ अफ्रीका के विकेट बल्लेबाज थे, जिनकी मौत भी मैदान पर गेंद लगने के कारण हुई थी, उनकी मौत 27 अक्टूबर 2013 यको तब हुई जब एक तेज गेंद उनके सिर पर आकर लगी।

खेल के दौरान दो इंग्लिश प्लेयर्स जॉर्ज समरज और अयान फूले की जान भी मैच के दौरान गेंद लगने से गई थी जबकि 26 वर्षीय ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज फिलिप हीोज़ शीफलड शील्ड टूर्नामेंट के दौरान फास्ट बाउलर सेन ाेबट गेंद सिर पर लगने के कारण गंभीर रूप से घायल हो गए थे और 2 दिन कोमे की स्थिति में रहने के बाद 27 नवंबर 2014 को मारे गए