amit

इसका जीवन इसका सन्देश है
मानता साहब का आदेश है
सही कह रहा है अमित शाह
करेगा दंगों से मुल्क तबाह
सर पर है साहब का हाथ
पीठ पे जिनके अंबानी का हाथ
साहब को हो जब सीटियाबाजी का शौक
करवाता जासूसी हो बेखौफ
दिखाना हो मुसलमानों को आतंकवादी
फर्जी मुठभेड़ों से कम करता उनकी आबादी
करता बहू बेटियों की इज्ज़त की बात
आशिकी पर मारता है लात
होती दो कौमों में गर मुहब्बत की बात
चिल्लाता है लव जेहाद लव जेहाद
ह्त्या-बलात्कार में सन्नाम
लेता रहता गांधी का नाम
गांधी पर था सवार आज़ादी का जुनून
तोड़ा उनने अंग्रेज़ी क़ानून
अहिंसा से दिया था अंग्रेजो को संत्रास
दे दिया था गांधी को कारावास
अमित शाह भी गया था जेल
जलाकर सामासिक संस्कृति का मेल
है यह सरगना ह्त्या-बलात्कार का
पैगम्बर हिंदुत्व के नरभक्षी संस्कार का
है सर पर जब तक साहब का हाथ
तोड़ेगा देश दिन-ओ-रात
साहब को कल्कि अवतार बताता
खुद को आधुनिक गांधी बतलाता
आयेगी जब जनवाद की आंधी
उड़ जायेंगे सब नकली गांधी

http://ishmishra.blogspot.ae/2014/11/blog-post_5.html?spref=fb